Mobile Repairing बिज़नेस कैसे सुरु करे

मोबाइल आज के दिन कॉमन चीज़ हो गयी है। बच्चों से लेके बड़ो तक मोबाइल फ़ोन है। अब इतने सारे मोबाइल फ़ोन होने के बाद मोबाइल ख़राब भी होते है। तो उन्हें ठीक करने के लिए Mobile Repair करने वाले लोगो की भी जरूरत है। आज हम Mobile Repairing बिज़नेस कैसे करे? इसके बारेमे बात करेंगे और आपको बताएँगे की कैसे आप ये बिज़नेस सुरु कर सकते है।

जब भी हमारा मोबाइल ख़राब होता है तो हम फ़ोन वारंटी में है तो सर्विस सेंटर लेके जाते है। मोबाइल की वारंटी ख़तम होने के बाद हम किसी लोकल के मोबाइल रिपेयरिंग के दुकान में जाते है। इसका मतलब ये है की इस बिज़नेस की डिमांड तो बहुत है।

Table of Contents

मोबाइल रिपेरिंग बिज़नेस क्या है?

मोबाइल बिज़नेस क्या है? मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस में आपको लोगो के फ़ोन ठीक करके देने होते है। जब भी किसी का फ़ोन ख़राब होता है। तो वह अपना मोबाइल किसी मोबाइल रिपेयरिंग करने वाले को दिखाता है। आप अगर ये बिज़नेस सिख जाते है तो काफी अच्छा मुनाफा हो सकता है।

मोबाइल रिपेरिंग कोर्स कैसे और कहा करे

मोबाइल रिपेयरिंग करने के लिए आपको सबसे पहले मोबाइल रिपेयरिंग सीखनी पड़ेगी। आप किसी भी लोकल डिप्लोमा सेण्टर से मोबाइल रिपेयरिंग का कोर्स कर सकते है। ये कोर्स 6 महीने का होता है इसमें आपको हर एक बात मोबाइल रिपेयरिंग की सिखाई जाती है। आप मोबाइल सिख कर खुद का सर्विस सेण्टर खोल सकते है।

मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस कैसे करे

  1. Market Research करे
  2. Budget कितना है वह देखे
  3. जगह का चयन करे
  4. दुकान और इंटीरियर
  5. मार्केटिंग
  6. सामान और स्पीयर पार्ट्स
  7. मोबाइल रिपेयरिंग करने वाला टेक्निशन को रखना।

मोबाइल रिपेयरिंग शॉप की मार्किट रिसर्च कैसे करे

सबसे पहले मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस के लिए मार्किट रिसर्च करना बहुत जरूरी है। आपको अपने मार्किट में देखना होगा की आप जहा इस बिज़नेस को सुरु करना चाहते है वह इसकी डिमांड है की नहीं। या वहा पहले से बहुत दूकान है जो मोबाइल रिपेयरिंग करती है ये सब आपको देख लेना है।

मोबाइल रिपेयरिंग शॉप का बजट बनाये

किसी भी बिज़नेस को करने से पहले उसका बजट बनाया जाता है। आप इस बिज़नेस का भी बजट निकाल सकते है। इसमें यह चीज़ गिन सकते है। आप जहा दुकान लगाना चाहते है उसका रेंट,इंटीरियर,दुकान का सामान,मोबाइल टेक्निशन की सैलरी ये सब आपको आपके बजट में गिनना है।

मोबाइल रिपेयरिंग जगह कैसे देखे

बजट तय होने के बाद आपको जगह देखनी है। आप यैसे जगह दूकान लगा सकते है जहा बहुत ज्यादा लोग आते जाते है। पर हमेशा बजट को देख कर ही जगह देखे किऊ आपके पैसे और भी जगह खर्चा होंगे जैसे काउंटर,इंटीरियर,कलरिंग।

मोबाइल रिपेयरिंग दुकान की मार्केटिंग

आज के ज़माने में बिना मार्केटिंग के कुछ भी नहीं है। आप छोटे से छोटे बिज़नेस को बिना मार्केटिंग के ग्रो नहीं कर सकते। मोबाइल रीपेरिंग के बिज़नेस की मार्केटिंग आप कुछ यैसे कर सकते है। आप सबसे पहले अपने विजिटिंग कार्ड बना ले। आप अपने जान पहचान में वह भाट सकते है। उसके बाद फेसबुक पर अपना पेज बना सकते है वह आप बिज़नेस के फोटोज शेयर कर सकते है। सबसे जरूरी आप गूगल माय बिज़नेस में लिस्ट करना है वहा से आपके पास कस्टमर आएंगे।

मोबाइल रिपेयरिंग सामान कहा से ले

आपको मोबाइल रिपेयरिंग के लिए पार्ट्स की जरूरत होगी। साथ में आप कुछ एक्सेसरीज भी रख सकते है जैसे Mobile Cover,Headphones,Charger,Battery,Memory Card ये सब। आपको ये सामान सस्ते दाम में होलसेल मार्किट में मिलता है। आप AliExpress जैसे वेबसाइट से भी सस्ते में सामान ले सकते है। इसमें काफी अच्छा मुनाफा है।

मोबाइल रिपेयरिंग करने वाला टेक्निशन को रखना

सबसे आखिर में आपको एक टेक्निशन की जरूरत पड़ेगी। आप एक टेक्निशन ला सकते है या आप खुद मोबाइल रिपेयरिंग कर सकते है उसके लिए आपको मोबाइल रिपेयरिंग सीखना पड़ेगा। मोबाइल रिपेयरिंग सीखने फायदा ये है की आपको टेक्निशन को सैलरी देने की जरूरत नहीं है। आपका पूरा बिज़नेस आपके भरोसे होगा। टेक्निशन को हायर करना मतलब आपको उसके भरोसे बैठना पड़ेगा।

मोबाइल रिपेरिंग से पैसे कैसे कमाते है (Extra)

मोबाइल रिपेयरिंग से पैसे आप लोगो के मोबाइल रिपेयर करके सीखा सकते है। आपको मोबाइल रिपेयरिंग आती है तो आप जॉब करके भी पैसे कमा सकते है। आप खुदका का दुकान लगा कर भी पैसे कमा सकते है।

मोबाइल रिपेयरिंग से ज्यादा पैसे कैसे कमाए

सेकंड हैंड मोबाइल ख़रीदे और बेचे

मोबाइल रिपेयरिंग से ज्यादा पैसे कमाने के लिए आप इसके साथ सेकंड हैंड खरीद और बेच भी सकते है। सेकंड हैंड मोबाइल बेचने के लिए आप एक बोर्ड लगा सकते है यहाँ सेकंड हैंड मोबाइल मिलते है। उसके बाद आपके पास लोग आएंगे मोबाइल बेचने और ख़रीदी करने।

मोबाइल रिपेयरिंग का यूट्यूब चैनल बनाये

आप एक यूट्यूब चैनल भी बना सकते है आप इसमें मोबाइल रिपेरिंग के सीखा सकते है। आप किसी मोबाइल को रिपेयर कैसे करते है इसके साथ मोबाइल की सेटिंग्स की भी जानकारी दे सकते है। इसमें आप यूट्यूब एड्स के साथ स्पांसर से भी पैसे कमा सकते है।

मोबाइल रिपेयरिंग में मुनाफा कितना हो सकता है ?

हमने बिज़नेस को कैसे करते है ये तो जान लिया है अब हम बात करेंगे की इस बिज़नेस से आपको प्रॉफिट कितना होगा। मोबाइल रिपेयरिंग के बिज़नेस में आपको कितना भी मुनाफा हो सकता है और ये निर्भर भी करता है की आप दुकान कहा लगा रहे है। आपका दूकान यैसे जगह है जहा ज्यादा लोग आते है या बड़े सहर में तो आप 50 हज़ार तक कमा सकते है। ये मैं आपसे प्रॉफिट की बात कर रहा हु।

मोबाइल रैपिंग बिज़नेस में आने वाली चुनौतियां

दोस्तों अब हम बात करेंगे आपको इस बिज़नेस में कौनसी चुनौतियां आ सकती है। कोई भी बिज़नेस हो उसमे आपको मुश्किल कौनसी आ सकती है ये जानना बहुत जरूरी है। मोबाइल रिपेयरिंग के इस बिज़नेस में आपको सबसे पहले आने वाली चुनौती है लोगो के मोबाइल को ठीक से रिपेयर करने की। लोग आपके पास महंगे मोबाइल लाते है आपके जिम्मेदारी है की आप उनके मोबाइल को ठीक से रिपेयर करे।

इसमें दूसरी चुनौती है वह ठीक से टाइम पर मोबाइल ठीक करके देना। आपको लोगो को ठीक टाइम पर सर्विस देनी है नहीं तो लोग आके पास आना पसंद नहीं करेंगे। मोबाइल रिपेयरिंग के बिज़नेस में आपको कॉम्पिटिशन भी मिलेगा यैसे में थोड़ा हटके कुछ करना होगा यैसे में आप टाइम से डिलीवरी कर सकते है।

मोबाइल रिपेयरिंग के बिज़नेस में लगने वाली लागत?

मोबाइल रिपेयरिंग के बिज़नेस में आपको कम से कम २ लाख तक की लागत लग सकती है।

मोबाइल रिपेयरिंग कौन कर सकता है?

यहाँ बिज़नेस कोई भी कर सकते है। आपको अगर मोबाइल में रूचि है तो आप मोबाइल रिपेयरिंग के कोर्स कर मोबाइल रिपेयरिंग कर सकते है।

Leave a Comment